आसान ट्रांजेक्‍शन, डेबिट और क्रेडिट कार्ड्स के 95% कवरेज ने मर्चेंट्स को ग्राहकों के लिए शून्‍य ब्‍याज ईएमआई उपलब्‍ध कराने में सक्षम बनाया



मुंबई, 24 नवंबर, 2020: फिर से ग्राहकों की बढ़ती मांग और 'बाय नाउ पे लैटर' की वैश्विक ट्रेंड के साथ, एमस्‍वाइप ने मूल्‍यवर्द्धित सेवा के रूप में ब्रांड ईएमआई को लॉन्‍च किया है। इस सेवा के जरिए, मर्चेंट्स 15 सेकंड्स से भी कम समय में ब्रांड के शून्‍य ब्‍याज पर ईएमआई फाइनेंसिंग उपलब्‍ध करा सकते हैं। इससे चेकआउट की प्रक्रिया काफी तेज हो जायेगी और उपयुक्‍त फाइनेंसिंग विकल्‍पों के अभाव के चलते कार्ट को छोड़ना कम होगा, जिससे छोटे व्‍यवसायों को बिक्री बढ़ाने में मदद मिलेगी। 

विभिन्‍न बैंकों द्वारा उपलब्‍ध कराये जाने वाले सभी डेबिट एवं क्रेडिट कार्ड्स के 95 प्रतिशत कवरेज के साथ, एमस्‍वाइप ब्रांड ईएमआई उन ग्राहकों को शानदार विकल्‍प एवं लचीलापन उपलब्‍ध कराता है, जो प्राय: चेकआउट के समय पसंदीदा ईएमआई विकल्‍प के अभाव में अपनी खरीदारी के निर्णय को टाल देते हैं।

ब्रांड ईएमआई विकल्‍प, मोबाइल्‍स, कंज्‍यूमर ड्यूरेबल्‍स, शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य, फर्नीचर, वेलनेस एवं लग्‍जरी सेगमेंट्स में बेहद लोकप्रिय हैं। ब्रांड्स द्वारा ज़ीरो ब्‍याज वाले ईएमआई वाले 'बाय नाउ पे लैटर' विकल्‍पों के साथ ग्राहकों को आकर्षित किये जाने के प्रयास के साथ, छोटे व्‍यवसाय चेकआउट फाइनेंसिंग को एकीकृत करने के इच्‍छुक हैं जो त्वरित हो और जिनसे उनके ग्राहकों के लिए खरीदारी का निर्णय आसान हो सके।

एमस्‍वाइप के संस्‍थापक और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी, मनीष पटेल ने कहा, ''विभिन्‍न उत्‍पाद एवं सेवा श्रेणियों में ग्राहक मांग अधिक है, लेकिन खरीदारी के दौरान चेकआउट के चरण में, विलंब और ड्रॉपआउट की अधिक दर देखने को मिलती है। इसका स्‍पष्‍ट कारण महामारी के चलते आय बाधित होना है। हालांकि महामारी के पहले 'बाय नाउ पे लैटर' की पेशकश ग्राहकों को अधिक आकर्षित करने का 'विकल्‍प' था, लेकिन आज यह लोगों को उनके बैंक खाते में मौजूद कम राशि का अहसास कराये बिना उन्‍हें खरीदारी करने में सहायक साबित हो रहा है। छोटे व्‍यवसायों के लिए, इस तरह के एसेसिबल एवं अफोर्डेबल चेकआउट फाइनेंस उपलब्‍ध कराने की आवश्‍यकता बेहद महत्‍वपूर्ण है। एमस्‍वाइप ब्रांड ईएमआई, एसएमई की स्थिति को महसूस करने और उनकी बिक्री बढ़ाने में उनकी सहायता करने के उद्देश्‍य का परिणाम है।''

एमस्‍वाइप की पेशकश के अन्‍य लाभों में मर्चेंट फ्रेंडली यूजर इंटरफेस शामिल है जो 4 से भी कम टैप्‍स में विभिन्‍न ऑफर्स को एक में शामिल करने में सहायक है और मर्चेंट के टर्मिनल नेविगेशन को कम करके 3 स्‍क्रीन्‍स करता है। बाजार में उपलब्‍ध मौजूदा समाधानों का ट्रांजेक्‍शन समय 60 सेकंड से भी अधिक है, और ब्रांड इंटीग्रेशन के लिए 50 से अधिक बार टैप्‍स करने पड़ते हैं और ब्रांड ईएमआई को उपलब्‍ध कराने हेतु 10 से अधिक स्‍क्रीन्‍स को नेविगेट करना पड़ता है।

एमस्‍वाइप इकलौता ऐसा ब्रांड है जिसके पास भारत के एसएमई के लिए डिजिटल भुगतान समाधानों की संपूर्ण रेंज है, जिसमें यूपीआई क्‍यूआर, एनएफसी-आधारित टैप एंड पे, पीओएस एवं पेमेंट लिंक शामिल है। 6.75 लाख पीओएस और 1.1 मिलियन क्‍यूआर मर्चेंट्स के साथ भारत का सबसे बड़ा पीओएस अधिग्रहणकर्ता, एमस्‍वाइप अपने प्रीपेड मनीबैक कार्ड के साथ सबसे तेजी से बढ़ता हुआ जारीकर्ता भी है।


एमस्‍वाइप के बारे में:

एमस्‍वाइप का उद्देश्य भारत के एसएमई और व्यापारियों के लिए निर्बाध मोबाइल पीओएस और मूल्य वर्धित सेवाएं प्रदान करके भारत का सबसे बड़ा वित्तीय सेवा मंच बनना है। यह देश भर में 6.75 लाख पीओएस और 1.1 मिलियन क्यूरमेक के साथ सबसे बड़ा स्वतंत्र मोबाइल पीओएस मर्चेंट परिचित और नेटवर्क प्रदाता है। एमस्‍वाइप सभी प्रकार की भुगतान स्वीकृति के लिए पीओएस समाधानों की मेज़बानी करता है - कार्ड, वॉलेट, मोबाइल भुगतान ऐप और बैंक ऐप, संपर्क रहित और क्‍यूआर भुगतान। मुंबई में मुख्यालय, एमस्‍वाइप ने 2011 में परिचालन शुरू किया। इसके प्रमुख निवेशकों में बी कैपिटल, यूसी-आरएनटी, फाल्कन एज कैपिटल, मैट्रिक्स पार्टनर्स इंडिया, डीएसजी पार्टनर्स और एपिक कैपिटल शामिल हैं। अधिक जानकारी के लिए, https://www.mswipe.com पर जाएं

Post a Comment

नया पेज पुराने